बुधवार, 13 जून 2007

मै भी कुछ लाऊँ

आजकल सबको अपना-अपना कलेक्शन दिखाने का बुखार हो गया है, तो मुझे भी ये बुखार लग गया है, पिछले 10 दिनो से सोच रही हूँ, मै क्या दिखाऊँ !

मेरे पास कार नही है, जुता भी एक ही है, हाँ मेरे भाई के खिलौने हैं पर वो तो हाथ नही लगाने देगा, फिर मुझे कुछ दिखाना भी ऐसा है जो मेरे कलेक्शन मे आता हो... सोच सोच के परेशान हो गयी...
फिर सोचा कि अपना बाल्कनी गार्डेन ही दिखा दूँ, पर गर्मी की वजह से कुछेक पौधो को छोडकर उसकी हालत खस्ता है, फिर सोचा मै अपनी लाईब्रेरी की किताबे ही दिखा लेती हूँ, पर आईडिया जमा नही, उसके बाद कई कलेक्शन दिमाग मे आते रहे और किसी ना किसी वजह से सबको काटती गयी

अभी ध्यान मे आया कि क्यूँ ना मै अपने हीलींग प्रोडक्टस ही दिखाऊँ.. एक पंथ दो काज हो जायेंगे.. मतलब दिखाना और कौन सा प्रोडक्ट क्या काम करता है बताना दोनो.


तो बस शुरू हो गयी जो प्रोड्कट्स अभी मेरे पास हैं, उनका लिस्ट बनाने मे, एक बात जरूर ध्यान रखियेगा की यह साधारण प्रोड्कट्स नही है, बल्कि इन पर घँटो का मेडिटेशन एनर्जी लगा है, अतः अगर बजार से लाकर सीधे आप उपयोग मे लायेंगे तो शायद ही काम करे।
यह है ॐ पेंडेंट विद पर्ल इसको अपने साथ रखने सात्विक विचार उत्पन्न होटल है तथा आने वाली परेशानियों से सुरक्षा होती। तथा त्रिशक्तियों का साथ मिलता है।




यह है ॐ पेंडेंट इसको , यह जीवन ऊर्जा को सम्बल बनाये रखने मे मददगार होता है।





मोती -साधारणतया यहाँ उन लोगो के लिये फायदेमंद है जिन्हे बार सर्दी जुकाम होता हो, पर अभी यहाँ दिमागी संतुलन, शांति और सात्विक सम्पूर्ण आनन्द के लिये प्रयुक्त होता है।



जिरकॉन- यहाँ है गोल्डेन जिरकॉन, वैसे जिरकॉन कई रंगो मे मै सिर्फ गोल्डेन का फोटो दिखा रही हूँ, आगे के फोटु जल्दी ही लगाऊँगी।
गोल्डेन जिरकॉन, अवसाद से दूर होने के लिये, और एकाग्रता बढाने के लिये दिया जाता है, यह और पीले रंग को एक साथ रखने से, सारे काम अच्छे ढंग से होते हैं, भाग्य साथ देता है।
बाकी बाद मे अभी और फोटु खिचने होंगे... जैसे ही और फोटु खीच कर कम्प्युटर मे लगाऊँगी, यहा हाजिर हो जाऊँगी, अभी आधी अधूरी कलेक्शन को ही बर्दाश्त कर लिजिये :)

8 टिप्‍पणियां:

Sagar Chand Nahar ने कहा…

बहुत सुन्दर कलेक्शन है आपका। कुछ हटकर। इसे पूरा बतायें।
जब हम अपना दिखायेंगे तो माचिस की छापें और कुछेक पुराने सिक्के और डाक टिकट मिलेंगे।

sunita (shanoo) ने कहा…

अच्छा कलेक्शन है गरिमा जी...जरा विस्तार से और बतायें...

सुनीता(शानू)

गिरिराज जोशी "कविराज" ने कहा…

:)

अच्छा क्लेक्शन है, पूरा करें...

Udan Tashtari ने कहा…

अच्छा कलेक्शन है और जानकारी भी अच्छी दी जा रही है, बधाई. जानकारी कुछ और विस्तृत किजिये तो और मजा आये. अगली कड़ी का इन्तजार है.

Divine India ने कहा…

बहुत खुबशुरत कलेक्शन है…।
यही बहुत अच्छा रहा दिखने का बस मिजाज सही होना चाहिए…व्यक्त खुद और व्यक्त हो जाता है…बधाई!!

अनूप शुक्ल ने कहा…

गरिमाजी, आपने ये जो आधा-अधूरा कलेक्शन दिखाया वह अच्छा है। अब पूरा भी दिखाइये जल्दी से वर्ना हम अवसाद में आ जायेंगे फिर आपको गोल्डन जिरकॉन हमें देना पड़ेगा!

काकेश ने कहा…

अच्छा कलेक्सन.. इनके दाम भी बतायें..

Sanjeet Tripathi ने कहा…

वाह!!
शुक्रिया डॉ साहिबा!!